ख़ामोशी !


जब थक जाएँ पैर तुम्हारे, संघर्ष पथ पर चलते चलते,
जब छा जाए हर ओर अँधेरा, डूब जाए सूरज ढलते ढलते।

जब सही राह खो जाए, ना मिले सागर का कोई किनारा,
जब तूफ़ान घेर लें सभी तरफ, ना हो पास में कोई सहारा।

तब इन विपदाओं से हो भयभीत, ना करो मन को कमज़ोर सुनो,
छोड़ो इस दुनिया की बातें, लो ख़ामोशी का शोर सुनो।

 

“जीवन एक अबूझ पहेली है, इसका हल इतना आसान नहीं,
पर सुलझाने आया इसको, इन्सान ही है भगवान नहीं।”

कदमों को ना अब रुकने दो, खुद पर पूरा विश्वास रखो,
संदेही विचारों को छोड़कर, बस मंजिल का आभास रखो।

जो सुनना हो अंतर्मन की दुविधा, तो भावों की आई हिलोर सुनो,
छोड़ो इस दुनिया की बातें, लो ख़ामोशी का शोर सुनो।

 

हर शब्द के लिए आवाज़ मिले, ऐसा तो ज़रूरी नहीं होता,
हर सुर को नित नए साज़ मिले, ऐसा भी जरूरी नहीं होता।

कुछ बातें मौन ही हो जाती हैं, अपना मतलब समझा जाती हैं,
कुछ घटनाएँ घटित होने पर ही, अपना अस्तित्व बता पाती हैं।

ये सारी बातें जो सुन ना पाओ, तो आओ चलो कुछ और सुनो,
छोड़ो इस दुनिया की बातें, लो ख़ामोशी का शोर सुनो।

– अनभिज्ञ

Copyrighted.com Registered & Protected ZCCZ-Q9HI-OSSR-U0FQ

 

Advertisements

12 thoughts on “ख़ामोशी !

Add yours

  1. Gud poetry!
    The best thing i liked was, the punch line “lo khamoshi…suno”.
    It gives ethereal feeling! Beyond cosmos!
    Well, I have also written a piece on “sound of silence”!
    As a wirter(though i m a trivial one), to give different but easy as well as encouraging solution to a common problem displays one’s power of thoughts nd imagination! U have it!
    Well done!
    Keep it Up!

    Liked by 1 person

    1. I’m glad that you liked my work. It’s always encouraging for a writer to know that his work is making impact in someone’s life in a meaningful way.
      I will surely want to read your creation also.
      Thank You for stopping by. Keep Visiting.😊😊

      Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: